प्रिय बंधुओ जय श्रीराम


प्रिय बंधुओ जय श्रीराम राम राम

जी  करोड़ों की भीड़ में  "इतिहास"  मुठ्ठीभर लोग ही  बनाते हैं,
वही रचते हैं  "इतिहास" जो आलोचना से नहीं घबराते हैं... 👌
कितना आश्चर्यजनक है ना👌

हे मालिक  -आईना साफ किया तो "मैं" नजर आया,
और "मैं" को साफ किया तो 'तू' नजर आया।।

हमारा मुख्य उद्देश्य:  🌷विकास और जन सेवा🌷 वेदों में शुभ कर्म करने का विधान है। जैसे यज्ञ करना, ईश्वर की उपासना करना, माता पिता एवं गुरुजनों की सेवा करना, प्राणियों की रक्षा करना, कमजोर व्यक्तियों की सहायता करना, वैदिक धर्म प्रचार में दान देना, शाकाहारी भोजन करना, व्यायाम करना, विद्या पढ़ना पढ़ाना, परोपकार करना इत्यादि।  इन सब शुभ कर्मों में एक शुभ कर्म दान देना भी बताया गया है। अर्थात कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए। यह दान देना रूपी शुभ कर्म सभी को करना चाहिए, चाहे थोड़ा या अधिक। स्वामी विवेकानंद जी कहते हैं  धन के अतिरिक्त कोई भी सम्पत्ति आपके पास हो विद्या हो, बल हो, सुझाव हो, वह भी आप दे सकते हैं। इस प्रकार से कोई ना कोई दान आदि शुभ कर्म हमेशा करने चाहिए जिसे आपके अगले जन्म में भी सब सुविधाएं प्राप्त हो सकें। किसी भी तरह की परेशानी या सहयोग करने के लिए संगठन की कार्यकारिणी से संपर्क करें एवम सहयोग के लिए  हिम समाजिक संगठन के बैंक एकाउंट में भी आप अपनी सहयोग राशि दे सकते है। हमारी बैंक डिटेल आगे लिखी है।

Banificery Name : Him Samajik Sangthan  (Regd)
Name of Bank : HDFC Bank Ltd, Sector 7, Rohini Branch
IFSC code : HDFC0002072
Bank Account No. : 50100486271810
आपके शुभचिंतक  कुलवंत सिंह राणा
टीम हिम सामाजिक संगठन (रजि)🌍🚩 दिल्ली, भारत
www.himsamajiksangathan.org

🇮🇳 जय हिन्द, जय हिमाचल 🇮🇳
Home About Us Executive Member Gallery Contact Us

© All rights reserved